बल्ब का आविष्कार किसने किया था और कब किया था

बल्ब की अविष्कार होने से पहले हम इससे पहले हम उस समय के बारे में जानते है जब रोशनी के लिए बल्ब नहीं जुआ करते थे| इससे पहले के लोग रौशनी के लिए के लिए लोग अपने घर में मिट्टी के दिए घर में रखा करते थे और जब भी अंधेरा होता था तो दिए को जलाकर अंधेरा दूर किया करते थे| लेकिन जैसा हम समझते है उतना आसान भी नहीं था उस समय इसको सम्भाल कर रखना| इससे कई बार लोगो के घर में दुर्घटना हो जाया करती थी |

लेकिन धीरे धीरे वो समय गुजरता गया लेकिन कुछ समय बाद एक ऐसा समय भीआया जब थॉमस ऐल्वा एडीसन ने एक ऐसी उपकरण का अविष्कार जो दिए के बिना ही घरो में रौशनी कर सकता है और इसका नाम बल्ब रखा गया| इसके अविष्कार होने से मनो पुरे विश्व में एक क्रांति सी आ गई| अब  लोगो को अँधेरे से बिलकुल भी डरने  की जरुरत नहीं है | इस बल्ब को हम केवल घर में ही नहीं बल्कि बहार भी कर सकते है| लोग दिए को घर में बाहर नहीं ले जा सकते थे क्यों की बाहर हवा चलने के कारन बुझ जाती थी|

बल्ब क्या है?

बल्ब  एक प्रकार का उपकरण है जो जलने पर रौशनी देती है| लेकिन इसे जलाने के लिए विधुत की जरुरत पड़ती है जब इस बल्ब को विधुत से जोड़ दिया जाता तो इस बल्ब से सूर्य के प्रकाश की तरह रौशनी प्रदान करती है और यह दिए से ज्यादा प्रदान करती है|

बिजली के बल्ब का आविष्कार किसने किया था?

बल्ब का आविष्कार थॉमस ऐल्वा एडीसन जी ने किया था | एडीसन उस समय के एक प्रशिद वैज्ञानिक थे |

लाइट बल्ब का आविष्कार कब हुआ था?

बल्ब का आविष्कार सन 1879 में किया गया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.